एंड्राइड के टोप 10 फायदे – Benefits of Android In Hindi

हेल्लो दोस्तो एंड्राइड हिंदी ब्लोग पे आपका बहोत बहोत स्वागत है । आज की इस पोस्ट मे में आपको 10 एंड्राइड के फायदे के बारे मे बताने वाला हु । अगर आपको भी एंड्राइड के टोप 10 फायदे के बारे मे जानना है तो आप इस पोस्ट को आखिर तक पढे

एंड्राइड के टोप 10 फायदे – Benefits of Android In Hindi

अगर आपको एंड्राइड क्या है ये नही पता है और आप एंड्राइड का मतलब क्या होता है ये जानना है तो आप हमारी ये पोस्ट पढ सकते है । इसमे मेंने एंड्राइड के बारे मे आशान भाषा मे बताया है ।
एंड्राइड ओपरेटिंग सिस्टम मोबाइल / स्मार्टफोन मे सबसे जयादा इस्तेमाल होने वाली ओपरेटींग सिस्टम है । हाल ही मे की गइ एक जांच मे ये आया गया है की लगभग 87.8% स्मार्टफोन मे एंड्राइड ओपरेटींग सिस्टम इस्तेमाल होती है ।
अब आते है हमारे आज के मुद्दे पर वैसे तो एंड्राइड os के फायदे बहोत सारे है लेकिन आज की इस पोस्ट मे मे आपको एंड्राइड के टोप 10 फायदे के बारे मे बताने वाला हु । तो चलिये एक एक करके एंड्राइड के फायदे के बारे मे जानते है ।
एंड्राइड के टोप 10 फायदे
एंड्राइड के टोप 10 फायदे

1. समान चार्जर

एंड्राइड मोबाइल मे लगभग सभी स्मार्टफोन मे लगभग समान / एक जैसे ही चारजर का इस्तेमाल किया जाता है जबकी एपल के मोबाइल मे 2012 के बाद के मोबाइल मे अलग चार्जिंग कनेक्टर है और उससे पहले एपल मोबाइल मे अलग ।
एंड्राइड मोबाइल मे आप किसी भी एंड्राइड मोबाइल के चार्जर कनेक्टर को आप कीसी भी दुसरे एंड्राइड मोबाइल चार्जर के यु.एस.बी. केबल लगा के चार्ज कर सकते हो और आप दुसरे स्मार्टफोन के चार्जिंग कनेक्टर से भी आपका मोबाइल चार्ज कर सकते हो ।
एंड्राइड मोबाइल मे लगभग सभी फोन मे माइक्रो यु.एस.बी. केबल का हि इस्तेमाल होता है । अभी के कुछ गिने चुने स्मार्टफोन मे हमे सी केबल मिलता है लेकिन अब तक के पुराने एंड्राइड मोबाइल मे माइक्रो यु.एस.भी. केबल का ही इस्तेमाल किया गया है ।

2. मोबाइल पसंद करने के लिये ज्यादा विकल्प

अगर हम एन आइफोन खरिदने जाते हो एक किमत मे तो हमे सिर्फ एक ही मोबाइल का विकल्प मिलता है । एपल के मोबाइल मे हमे ज्यादा विकल्प नही मिलते है , जबकी एंड्राइड मोबाइल के साथ ऐसा नही है ।
अगर हमे एक एंड्राइड मोबाइल लेना हो तो हमे एक किमत पर बहोत सारे मोबाइल का विकल्प मिलता है इसलिये हम अपनी पसंद के हिसाब से कोइ भी मोबाइल ले सकते है जो हमे अच्छा लगे ।
हमे एक किमत पर बहोत सारे मोबाइल मिल जाते है जिसकी विशेषताए अलग अलग होती है इसलिये हमे जो वेशेषता की सबसे ज्यादा जरुरत हो हम उस हिसाब के मोबाइल फोन पसंद कर सकते है ।

3. स्टोरेज और बेटरी निकाल सकते है 

अगर हमे अपने आइफोन / आइपेड मे अपना स्टोरेज बढाना हो तो हमे बहोत सारे पैसे खर्च करने पडेंगे जबकी एंड्राइड मे ऐसा नही है आप अलग से मेमरीकार्ड लगा के भी आपके मोबाइल की स्टोरेज को बढा सकते हो ।
अगर हम आइफोन और एंड्राइड की कम्पेरिझन करे तो हमे इस मामले मे एंड्राइड का ही पलडा भारी लगता है । बहोत सारे एंड्राइड मोबाइल मे हमे अलग से मेमरी कार्ड डालने का स्लोट मिलता है ।
एंड्राइड मोबाइल मे अगर बेटरी खराब हो जाये तो हम उसे आशानी से बदल सकते है नाकी पुरा मोबाइल बदलना । पुराने ज्यादातर एंड्राइड मोबाइल से हम आशानी से पीछे का कवर निकाल कर बेटरी बदल सकते है ।
अभी के जो नये स्मार्टफोन आ रहे है उसमे भले ही हम घर पे उसका पीछे का कवर हता कर बेटरी नही निकाल सकते लेकिन उन स्मार्टफोन की बेटरी भी निकाली और बदली हो सकती है, जो की मोबाइल सर्विस वाले आशानी से आपको बदली करके दे देंगे ।
अगर हमे एंड्राइड मोबाइल की बेटरी बदली करनी हो तो हमे कोइ ज्यादा खर्चा नही आयेगा , हमे सिर्फ बेटरी का चार्ज देना होगा जिससे हम अपने एंड्राइड मोबाइल की बेटरी बडी ही आशानी के साथ बदल सकते है ।

4. बहेतरीन एंड्राइड विडजेट्स

एंड्राइड मोबाइल मे हमे बहोत सारे अच्छे अच्छे विडजेट्स मिलते है जिसका इस्तेमाल करके हम अपना रोज का काम आशान कर सकते है और हम अपने एंड्राइड मोबाइल का लूक भी अच्छा कर सकते है ।
एंड्राइड मोबाइल मे हमे बहेतरीन वेडजेट्स मिलते है एक ये भी वजह है की एंड्राइड एपल से ज्यादा अच्छा है और एंड्राइड विडजेट्स हमारा यानी की युझर एक्सपिरियंस लाजवाब बना देता है ।

5. बहेतर हार्डवेर

कुछ फ्लेगसिप एंड्राइड मोबाइल आइफोन से पुरी तरीके ज्यादा बहेतर हार्डवेर से बनाया जाता है । इसका मे आपको एक उदाहरण देता हु , सेमसंग का गेलेक्सी एस7 एड्ज सभी तरीके से आइफोन 6एस से अच्छा है जैसे की बढिया प्रोसेसर, ज्यादा रेम, ज्यादा केपेसीटी वाली बेटरी और ज्यादा अच्छी बेटरी ।

6. ज्यादा बहेतर चार्जिंग विकल्प

एंड्राइड मोबाइल मे हमे फास्ट चार्जिंग का सपोर्ट मिलता है, हम अपने फ्लेगशिप एंड्राइड मोबाइल को आइफोन से ज्यादा जलदी चार्ज कर पाते है । कुछ एंड्राइड फ्लेगसिप मोबाइल मे काफी समय से वायरलेश चार्जिंग का विकल्प उपलब्ध है ।
अगर बात करे आइफोन की तो हमे हाल मे ही आइफोन मे वायरलेश चार्जिंग का सपोर्ट मिलता है जबकी एंड्राइड मे काफी समय से है । एक तरीके ये भी एक वजह है की एंड्राइड को आइफोन से बहेतर माना जाता है ।

7. इन्फ्रारेड

एंड्राइड मे हमे इन्फ्रारेड का सपोर्ट मिलता है, लेकिन काफी लोगो को ये नही पता की इन्फ्रारेड का इस्तेमाल असल मे कहा होता है । आज मे आपको बताउंगा की एंड्राइड मोबाइल मे इन्फ्रारेड का इस्तेमाल कहा होता है ।
अभी के एंड्राइड मोबाइल को आप टीवी के रिमोट के तरह भी इस्तेमाल कर सकते हो ये तभी मुमकीन हो पाता है जब आपके मोबाइल इन्फ्रारेड हो । ये फिचर कुछ ज्यादा खास नही है लेकिन फिर भी ये काफी लोगो के लिये एक लाजवाब फिचर मे से एक है ।
इस फिचर का होने से काफी लोगो का युझर एक्सपिरियंस अच्छा हो जाता है क्योंकि इन्फ्रारेड का इस्तेमाल कर के हम स्मार्ट डिवाइस को वायरलेसली कंट्रोल कर सकते है ।

8. ज्यादा एप्लिकेशन का विकल्प

आपको आपके एंड्राइड मोबइल मे बहोत सारी एप्लिकेशन का विकल्प मिलता है । आप एंड्राइड मे गुगल प्ले स्टोर से अलावा दुसरी जगह से भी कोइ एप्लिकेशन खरिद सकते है, जैसे की एमेझोन ।
आपको ऐसी बहोत सारी एप्लिकेशन मिल जायेगी जो की आपको काफी प्लेटफोर्म पे मिलेगी , आप जहा से चाहे उसे खरिद सकते हो । आपको एंड्राइड मे एक काम करने के लिये बहोत सारी एप्लिकेशन मिल जायेगी आप अपनी पसंद के हिसाब से किसी भी एप्लिकेशन का इस्तेमाल अर सकते है ।

9. कस्टम कीबोर्ड्स

अगर आपको आपके आइफोन का कीबोर्ड पसंद नही आता है तो आपके पास कुछ चुनिंदा विक्ल्प उपलब्ध है जिससे आप आपके आइफोन के कीबोर्ड को बदल सकते हो ।
आपको आपके एंड्राइड मोबाइल / टेबलेट मे आपको ढेर सारे विकल्प मिल जाते है कीबोर्ड के मामले मे , जैसे की स्विफ्टकी । आप एंड्राइड मोबाइल के कीबोर्ड को अपने हिसाब से सुचना दे सकते है और आप आपका युझर एक्सपिरियंस बहेतरीन बना सकते है ।

10. गुगल प्ले स्टोर जायदा युझर फ्रेंड्ली होना

एपल के एप स्टोर और एंड्राइड के गुगल प्ले स्टोर दोनो मे हमे हमे कइ लाख एप्लिकेशन मिल जायेगी जिसे हम डाउनलोड कर सकते है । लेकिन एप स्टोर मे एक लिमिटेशन है की आपको आइट्युन का इन्टरफेस और आपने कोइ मुवी डाउनलोड की हो वो सिर्फ एपल की डिवाइस मे ही चल सके ।
अगर हम एंड्राइड के गुगल प्ले स्टोर की बात करे तो गुगल प्ले स्टोर हमे ज्यादा ओपन वेब इन्टरफेस देता है , चाहे वो कोइ भी एप्लिकेशन डाउनलोड करनी हो या फिर कोइ मुवी हो जो हम कोइ भी वेब ब्राउझर मे देख सकते है नाकी सिर्फ एंड्राइड डिवाइस मे ।

मेरा सुझाव :

मेरा ये मानना है की एंड्राइड बहोत सारे मामले मे आइफोन से ज्यादा बहेतर है । कुछ ऐसी भी चीजे है जिसमे बेसक आइफोन एंड्राइड से बहेतर है, जैसे की सिक्योरिटी ।
एंड्राइड मोबाइल हमे कम दाम मे बहोत सारे अच्छे अच्छे फिचर देता है और हमारे बजेट मे हमे एक स्मार्टफोन मिल जाता है, एक आम आदमी के लिये एंड्राइड एक अच्छा विकल्प है ।
एंड्राइड एक ओपन सोर्स प्लेटफोर्म है इसलिये हम एंड्राइड मे जैसे चाहे वैसे अपने हिसाब से बदलाव कर सकते है और एंड्राइड के सोर्स कोड को कही पर भी इस्तेमाल कर सकते है ।
मेरा तो यही सुझाव है की अगर आप एक स्मार्टफोन खरिदना चाहते हो और आप इतने ज्यादा भी अमीर नही हो की आप 60000-70000 का सिर्फ एक स्मार्टफोन खरिद सको तो आप एंड्राइड स्मार्टफोन के साथ ही जाये ।
ज्यादातर लोग जो आइफोन इस्तेमाल करते है वो सब सिर्फ बढाइ दिखाने के लिये ही आइफोन खरिदते है । इसलिये आप अपने पैसे बरबाद नही करना चाहते फालतु मे तो आप एक अच्छा सा एंड्राइड मोबाइल ही खरिदे ।

आप एंड्राइड के बारे मे क्या सोचते हो हमे कमेन्ट करके जरुर बताये , हमे आपकी राय जानकर बहोत खुशी होगी और हमे भी कुछ नया सिखने को मिलेगा । आर्टिकल पुरा पढने के लिये आपका बहोत बहोत धन्यवाद ।

Leave a Comment